जानिये कौन है Ratan Tata के साथ दिखने वाला ये लड़का Shantanu Naidu, काम और नेटवर्थ जानकर रह जायेंगे हैरान

Desk Team
0

Ratan-Tata-Personal-Assistant-Shantanu-Naidu

Ratan Tata PA (personal assistant) Shantanu Naidu : रतन टाटा भारत के दिग्गज उद्योगपतियों में गिने जाते है। अपने बिजनेस के साथ - साथ रतन टाटा को अपनी सामाजिक कार्यों के लिए भी जाना जाता है। अपने कर्मचारियों को लेकर भी रतन टाटा ने जो नीतियां फॉलो की है वो बेहद कम कंपनियों में देखने को मिलती है। रतन टाटा के बारे में तो आपने बहुत कुछ पढ़ा होगा पर आज हम आपको एक ऐसे शख्स के बारे में बता रहे है जिन्हें अक्सर उनके साथ देखा जाता है। हम बात कर रहे है Ratan Tata के पर्सनल असिस्टेंट की जो हर इवेंट में बखूबी अपनी जिम्मेदारी निभाते नजर आते है। रतन टाटा के इस पर्सनल असिस्टेंट को लेकर भी बेहद दिलचस्प कहानी है और रतन टाटा खुद उनसे बेहद लगाव रखते है। आइए जानते है कौन है रतन टाटा के पर्सनल असिस्टेंट Shantanu Naidu और क्या है इनकी कहानी।

Ratan Tata Personal Assistant Shantanu Naidu

रतन टाटा के पीए है शांतनु नायडू - Shantanu Naidu is Ratan Tata's PA

रतन टाटा के पर्सनल असिस्टेंट का नाम शांतनु नायडू है। इन्होंने अमेरिका के कॉर्नेल यूनिवर्सिटी से एमबीए की पढ़ाई की है। शांतनु अपने परिवार की पांचवी पीढ़ी है जो टाटा ग्रुप में काम करते आ रहे है। Shantanu Naidu का जन्म महाराष्ट्र के पुणे में साल 1993 में हुआ था। बचपन से वो पढ़ाई में काफी तेज थे। साल 2018 में जब शांतनु अमेरिका से अपनी पढ़ाई पूरी करके लौटे तब उन्हें टाटा ट्रस्ट में बतौर डिप्टी जनरल मैनेजर के तौर पर नियुक्त किया है। टाटा ट्रस्ट में जॉब के साथ - साथ शांतनु ने अपना एक स्टार्टअप भी शुरू किया को वरिष्ठ नागरिकों की सेवा के लिए बनाया गया है।

शांतनु नायडू से बेहद इंप्रेस हुए रतन टाटा - Ratan Tata was very impressed with Shantanu Naidu

30 साल के शांतनु नायडू पेशे से इंजीनियर है और इसके अलावा वो एक शानदार बिजनेसमैन, सोशल मीडिया इनफ्लुएंसर, राइटर और एंटरप्रेन्यर भी है। रतन टाटा ने जब शांतनु नायडू की काबिलियत को परखा तो उनसे बेहद इंप्रेस हुए। रतन टाटा ने शांतनु के स्टार्टअप गुडफेलोज में भी इन्वेस्ट किया ताकि वो और बेहतर तरीके से समाज की भलाई के लिए काम कर सके। रतन टाटा ने उनकी काबिलियत का सम्मान करते हुए खुद उन्हें फोन करके अपने पर्सनल असिस्टेंट की जॉब ऑफर की और शांतनु इस शानदार मौके के लिए तुरंत मान गए। अब रतन टाटा शांतनु को अपने बेटे किंतरह मानते है।

Also Read : Millionaire Girl Isabella Barrett : करोड़पति होने के बाद भी करती है घर में झाड़ू पोछा, कौन है 17 साल की इसाबेल?

क्या है शांतनु नायडू की जिम्मेदारी - What is the responsibility of Shantanu Naidu

शांतनु नायडू का पद अब टाटा ट्रस्ट में मैनेजर का है। पर्सनल असिस्टेंट होने के साथ - साथ शांतनु टाटा ग्रुप का इन्वेस्टमेंट भी देखते है। हर महीने शांतनु को करीब 7 लाख रुपए की सैलरी मिलती है और उनकी नेट वर्थ करीब 6 करोड़ रुपए है। हालांकि इस बात की जानकारी तो नहीं है कि रतन टाटा ने शांतनु नायडू के स्टार्टअप में कितना इन्वेस्टमेंट किया है पर इस स्टार्टअप के इवेंट्स में रतन टाटा काफी दिलचस्पी दिखाते है।

अपनी किताब में भी रतन टाटा ने किया है शांतनु नायडू का जिक्र - Shantanu Naidu in Ratan Tata's book

रतन टाटा खुद एक समाज प्रेमी के तौर पर जाने जाते है और उन्होंने अपनी किताब I came upon ka lighthouse में शांतनु की समाजसेवा की भावना को भी तवज्जो दी है। रतन टाटा ने जिक्र किया है कि Shantanu Naidu ने मुंबई की सड़कों पर आवारा घूमने वाले लावारिस कुत्तों को हादसों से बचाने के लिए एक मुहीम चलाई थी जिसमे वो कुत्तों के गले में एक चमकीला पट्टा पहनाते थे जिससे रात में गाड़ी वाले उन्हें दूर से पहचान लें और कोई कुत्ता सड़क हादसे का शिकार न हो। रतन टाटा खुद जानवरों और खासकर कुत्तों से बेहद प्रेम करते है। शांतनु नायडू के इस प्रयास ने उन्हें काफी इंप्रेस किया और ये बात उनके दिल को छू गई। यही वजह थी कि रतन टाटा ने खुद फोन करके शांतनु नायडू को अपना पर्सनल असिस्टेंट बनने का ऑफर दिया।

Also Read : Success Story of Anil Nagar, Adda 247 : UP के छोटे से गाँव से निकलकर खड़ी की 1400 करोड़ की कंपनी, इन्हे कहते है जादूगर

Tags

Post a Comment

0Comments
Post a Comment (0)